Mon. Dec 9th, 2019

DHFCL प्रकरण पर अखिलेश का पलटवार, पूछा- 20 करोड़ चंदा लेने वाले ऊर्जा मंत्री बताएं कंपनी से अपने रिश्ते

1 min read

लखनऊ, जेएनएन। बिजली विभाग में हुए भविष्य निधि घोटाले पर आरोप-प्रत्यारोप का क्रम तेज हो गया है। समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा के आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा कि द्वेष की राजनीति के चलते आरोप लगाए जा रहे हैं। आकंठ भ्रष्टाचार में डूबे सत्ताधारी लोग नए-नए बहानों से जनता का ध्यान भटकाने की साजिश करते रहते हैं। उन्होंने कहा कि दीवान हाउसिंग फाइनेंस कंपनी (डीएचएफसीएल) से 20 करोड़ रुपये चंदा लेने वाले भाजपा के ऊर्जा मंत्री बताएं ये रिश्ता क्या कहलाता है?

रविवार को जारी किए बयान में अखिलेश ने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार अपने बेदाग होने का ढिंढोरा खूब पीटती है, लेकिन धीरे-धीरे उसके घोटालों की परतें खुल रही हैं। भाजपा सरकार को यह बताना होगा कि बिजली कर्मियों के हक का पैसा उस कंपनी में लगाने की मेहरबानी के पीछे क्या रहस्य है जो डिफाल्टर कंपनी रही है?
उन्होंने सवाल किया कि इतने बड़े घोटाले को ढाई साल तक पर्दे में क्यों रहने दिया गया? मामला मीडिया में न आता तो भाजपा सरकार इसे दबाए रहती। अभी भी लगता नहीं कि वह अपने घोटाले की जांच होने देगी? जब मामला सीबीआइ को दिए जाने की बात है तो फिर आर्थिक अपराध अनुसंधान शाखा को जांच क्यों दी जा रही है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

LATEST VIDEOS

You may have missed