Mon. Dec 9th, 2019

बारिश से टूटा 25 साल का रिकॉर्ड, कैदियों को करना पड़ा शिफ्ट, UP-बिहार में ये हैं हालात

1 min read

इतना ही नहीं उपमुख्यमंत्री सरीखे नेता का घर भी बाढ़ के प्रकोप से जूझ रहा है. बिहार के पटना समेत देश के अन्य हिस्सों में बाढ़ के कारण हालात बेकाबू हैं. इसी बाढ़ से जुड़े कुछ बड़े अपडेट यहां पढ़ें…
सितंबर के महीने में आसमान से बारिश कुछ ऐसी बरस रही है कि आधे हिंदुस्तान के लिए मुसीबत हो गई. बिहार और उत्तर प्रदेश में बारिश की वजह से बाढ़ आ गई है, लोग बेघर हो गए हैं, सैकड़ों लोगों की जान भी चली गई है. इतना ही नहीं उपमुख्यमंत्री सरीखे नेता का घर भी बाढ़ के प्रकोप से जूझ रहा है. बिहार के पटना समेत देश के अन्य हिस्सों में बाढ़ के कारण हालात बेकाबू हैं. इसी बाढ़ से जुड़े कुछ बड़े अपडेट यहां पढ़ें…

टूटा 25 साल का रिकॉर्ड-

1994 के बाद भारत में पहली बार इतनी अधिक बारिश हुई है. मौसम विभाग की तरफ से इसे ‘सामान्य से ऊपर’ बताया है. मौसम विभाग के अनुसार ये सीज़न सोमवार को खत्म हुआ, लेकिन देश के कई हिस्सों में अभी भी बारिश जारी है. अभी तक जो बारिश हुई है वह सामान्य से 10 फीसदी ज्यादा है, जो 25 साल में रिकॉर्ड है. अकेले मुंबई में ही इस बार 3669.6 MM बारिश हुई है, जो 61 साल में सबसे ज्यादा है.

कैदियों को भी करना पड़ा शिफ्ट-

उत्तर प्रदेश में भी बारिश-बाढ़ की वजह से बुरा हाल है. अभी तक प्रदेश में 107 से अधिक लोगों की जान चली गई है. मौसम विभाग का भी कहना है कि 1 अक्टूबर तक पूर्वी उत्तर प्रदेश में इसी तरह के हालात रहने वाले हैं. उत्तर प्रदेश के ही बलिया में करीब 900 से अधिक कैदियों को शिफ्ट करना पड़ा, क्योंकि जेल में गंगा का पानी भर गया था.
बिहार में अबतक 40 की मौत

बाढ़ के कारण सबसे बुरे हालात बिहार में हुए हैं, जहां ‘स्मार्ट सिटी’ पटना में सबकुछ डूब गया. सड़कों पर पानी-पानी है, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी तीन दिन तक अपने घर में फंसे रहे. राज्य में करीब 40 लोगों की मौत बाढ़ के कारण हो गई है. इसके अलावा अभी भी हालात सुधरते हुए नहीं दिख रहे हैं. पटना शहर में अभी स्कूल-कॉलेज सभी बंद किए गए हैं.

पटना शहर में लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन जारी हैं, स्थानीय पुलिस-NDRF-वायुसेना सभी लोगों को निकालने में जुटे हुए हैं. वायुसेना के हेलिकॉप्टर ने पटना शहर से 4000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है. शहर में NDRF की पांच टीमें काम कर रही हैं, हर टीम में 45 सदस्य हैं. बिहार में नीतीश कुमार ने एरियल सर्वे किया, अधिकारियों के साथ बैठक भी की.

पीएम मोदी-राहुल ने भी जताई चिंता-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सोमवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बात की और केंद्र सरकार की ओर से सभी मदद पहुंचाने का आश्वासन दिया. पीएम मोदी के अलावा कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी बिहार की बाढ़ पर चिंता जताई है और संवेदनाएं व्यक्त की हैं.सिर्फ उत्तर प्रदेश-बिहार ही नहीं बल्कि देश के अन्य हिस्सों में भी मौसम कहर ढा रहा है. राजधानी दिल्ली में इस पूरे हफ्ते बारिश होने की संभावना है, लेकिन दिल्ली का हाल भी अलग है. एक तरफ जहां देश के अन्य हिस्सों में लगातार बारिश हो रही है तो दिल्ली में पिछले पांच साल का जबरदस्त सूखा आसमान रहा है. इसके अलावा मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में भी लगातार बारिश हो रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

LATEST VIDEOS

You may have missed