Mon. Dec 9th, 2019

स्मॉग ने चढ़ा दिया यूपी का पारा, काशी में प्रदूषण बढ़ा जबकि लखनऊ में मिली कुछ राहत

1 min read

दिवाली के बाद से उत्तर प्रदेश में मौसम ने विचित्र रुख अख्तियार कर रखा है। धूप के साथ-साथ धुंध छायी है। आसमान में काले बादल लेकर असमंजस पैदा कर रहे हैं कि वह बादल ही हैं या फिर कुछ और। जलवायु विशेषज्ञ और पर्यावरणविदों ने साफ किया कि आतिशबाजी के प्रदूषण से समूचा यूपी स्मॉग की चपेट में है। अभी तीन-चार दिन यही हाल रहने के आसार हैं। मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता के मुताबिक सोमवार से हवा की गति कुछ बढ़ेगी। इससे धुंध छटने की संभावना बनेगी।

गोरखपुर में जलवायु विशेषज्ञ कैलाश पांडेय मुताबिक आसमान में दिखने वाले बादल दरअसल स्मॉग है। स्मॉग की वजह से ही पूर्वांचल का तापमान एक फिर से चढ़ गया है। 25 डिग्री सेल्सियस तक नीचे आ चुका अधिकतम तापमान एक बार फिर 30 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंच गया है। विशेषज्ञ ने बताया कि औद्योगिक गतिविधियों और वाहनों की संख्या के बढ़ने से पूर्वांचल का पर्यावरण संतुलन पहले से ही बिगड़ रहा है, दिवाली में हुई आतिशबाजी ने इसे और बिगाड़ दिया है। बीते एक पखवारे से चल रही पुरवा हवाओं के साथ आ रही नमी के बीच उलझकर धूल और कार्बन के कण वायुमंडल के निचले स्तर पर स्थिर हो गए हैं। यही स्मॉग है, जो काले बादल की तरह दिख रहा है।

पर्यावरणविद् प्रो.गोविंद पांडेय के अनुसार धूप की किरणें स्मॉग को पार कर जमीन तक पहुंच तो जा रही हैं, लेकिन उसके बाद कमजोर हो जाने के कारण वापस वायुमंडल में लौट नहीं पा रहीं, जिसके कारण तापमान में बढ़ोतरी हो गई है। अब इंतजार है शुष्क पछुआ हवाओं का, जिसकी वजह से वातावरण की नमी कम होगी तो वायुमंडल में स्थिर हो चुके कार्बन व धूल के कण जमीन पर आ जाएंगे। ऐसा होने पर ही स्मॉग से निजात मिलेगी।

बनारस में एक्यूआइ 774

वाराणसी में रविवार शाम बेकाबू एयर क्वालिटी इंडेक्स अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। अर्दली बाजार स्थित केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के स्टेशन में दर्ज किए गए रिकार्ड के मुताबिक शाम को एक्यूआइ 774 दर्ज किया गया। दिन में यह करीब 200 के आसपास था जबकि शाम होने के साथ ही अचानक तेजी से बढ़ोतरी दर्ज की गई। शहर में प्रदूषण फैलाने पर उप्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय कार्यालय ने पहली बार बड़ी कार्रवाई की है। बोर्ड ने तीन सरकारी सहित चार संस्थाओं को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। साथ ही इन पर 50-50 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। इस कार्रवाई से विभागों में हड़कंप की स्थिति है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

LATEST VIDEOS

You may have missed